शेयर बाजार की शुरुआत तेजी के साथ, बैंक निफ्टी 25250 के पार

नई दिल्ली (बिजनेस डेस्क)। शुक्रवार को भारतीय शेयर बाजार की शुरुआत तेजी के साथ देखने को मिल रही है। प्रमुख सूचकांक सेंसेक्स 196 अंक की तेजी के साथ 33145 के स्तर पर और निफ्टी 60 अंक की बढ़त के साथ 10224 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। नेश्नल स्टॉक एक्सचेंज पर मिडकैप इंडेक्स में 0.59 फीसद और स्मॉलकैप में 0.76 फीसद की बढ़त देखने को मिल रही है।
वैश्विक बाजार में तेजी
अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़त के चलते तमाम एशियाई बाजारों में तेजी देखने को मिल रहे हैं। जापान का निक्केई 1.19 फीसद की बढ़त के साथ 22766 के स्तर पर, चीन का शांघाई 0.21 फीसद की बढ़त के साथ 3278 के स्तर पर, हैंगसैंग 0.94 फीसद की बढ़त के साथ 28552 के स्तर पर और कोरिया का कोस्पी 0.23 फीसद की बढ़त के साथ 2467 के स्तर पर कारोबार कर रहा है। वहीं, बीते सत्र अमेरिकी बाजार भी बढ़त के साथ कारोबार कर बंद हुआ है। प्रमुख सूचकांक डाओ जोंस 0.29 फीसद की बढ़त के साथ 24211 के स्तर पर, एसएंडपी500 0.29 फीसद की बढ़त के साथ 2636 के स्तर पर और नैस्डैक 0.54 फीसद की बढ़त के साथ 6812 के स्तर पर कारोबार कर बंद हुआ है।
बैंकिंग शेयर्स में खरीदारी
सेक्टोरियल इंडेक्स की बात करें तो सभी सूचकांक हरे निशान में कारोबार कर रहे हैं। सबसे ज्यादा खरीदारी बैंकिंग शेयर्स में देखने को मिल रही है। बैंक (0.81 फीसद), ऑटो (0.66 फीसद), फाइनेंशियल सर्विस (0.79 फीसद), एफएमसीजी (0.33 फीसद), आईटी (0.37 फीसद), मेटल (0.58 फीसद), फार्मा (0.44 फीसद) और रियल्टी (0.58 और) की बढ़त देखने को मिल रही है।
टाटा मोटर्स टॉप गेनर
निफ्टी में शुमार दिग्गज शेयर्स की बात करें तो 38 हरे निशान में और 12 गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैंष सबसे ज्यादा तेजी टाटा मोटर्स, भारती एयरटेल, अदानीपोर्ट्स, यूपीएल और बजाज ऑटो के शेयर्स में है। वहीं, गिरावट इंफ्राटे, ल्यूपिन, आइशर मोटर्स, एनटीपीसी और टेक महिंद्रा के शेयर्स में है।

Leave a Reply

अन्य समाचार

கடந்த 27 ஆண்டுகளில் பாஜக ஆட்சியில்தான் அரசு நிறுவனங்களின் சொத்துகள் விற்பனை அதிகரிப்பு

கடந்த 1991-ம் ஆண்டில் இருந்து பொதுத்துறை நிறுவனங்களின் சொத்துகள், பங்குகள் விற்கப்பட்டதைக் (disinvestment ) காட்டிலும், கடந்த 4 ஆண்டுகளில் பாஜக தலைமையிலான தேசிய ஜனநாயகக் கூட்டணியில் அரசு நிறுவனங்களின் பங்குகள் விற்பனையானதுதான் அதிகம் என்று 'தி இந்து' (ஆங்கிலம்) மேற்கொண்ட ஆய்வில் தெரியவந்துள்ளது. கடந்த 1991-ம் [Read more...]

பிரெக்சிற் திட்டத்துக்கு மாற்று இல்லை

ஐரோப்பிய ஒன்றியத்திலிருந்து ஐக்கிய இராச்சியம் விலகுவது (பிரெக்சிற்) தொடர்பாக, ஐ.இராச்சியப் பிரதமர் தெரேசா மே சமர்ப்பித்துள்ள திட்டம் தொடர்பில் விமர்சனங்கள் எழுந்துள்ள நிலையில், தன்னால் சமர்ப்பிக்கப்பட்ட திட்டத்துக்கு மாற்றான திட்டமொன்று இருப்பதாகத் தெரியவில்லை என, பிரதமர் மே தெரிவித்துள்ளார். பிரெக்சிற் தொடர்பான வரைவுத் திட்டம், [Read more...]

मुख्य समाचार

उपर