हावड़ा के होजियरी कारखाने में लगी भीषण आग

 

हावड़ा : गुरुवार की दोपहर करीब 12.30 बजे हावड़ा के होजियरी कारखाने में भीषण आग लग गयी। आग इतनी तेज फैली की देखते ही देखते 2 कारखानों को राख में तब्दील कर दी। इसमें कारखाने के करोड़ों के माल जलकर राख हो गये। इसके साथ ही दो कारखाने आंशिक रूप से प्रभावित हुए। घटना हावड़ा के फोरशोर रोड के बिनानी स्टेट इंडिस्ट्रियल स्थित श्रीकृष्णा होजियरी प्राइवेट लिमिटेड के दो कपड़े के कारखानों में अचानक धुआं के साथ चिंगारी निकलता देख वहां मौजूद सभी श्रमिक घबरा गये। वहां अफरातफरी मच गयी। आग पहले एक कारखाने में लगी जहां की दीवार लकड़ी की बनी हुई थी और वहां सूता तैयार किया जा रहा था। तभी अचानक इलेक्ट्रिक स्विच से धुआं निकल गया और आग फैल गयी। यह पास के गंजी कारखाने में जा लगी। चूंकि कपड़ा होने के कारण आग फैलने में बिल्कुल भी समय नहीं लगा। यह देखकर श्रमिकों ने तुरंत इसकी जानकारी दमकल विभाग को दी। इसके साथ ही वे वहां स्थित अग्नि शमंन यंत्र से आग बुझाने की कोशिश करने लगे लेकिन आग फैलने लगी। इसके बाद घटनास्थल पर दमकल की 10 गाड़िया पहुंचीं और आग बुझाने में लग गयी। जब आग नहीं बुझी तो दमकल की 14 इंजन घटनास्थल पर पहुंचीं और देर शाम तक दमकल की गाड़ियां आग बुझाने में लगी रही। दमकल विभाग के अनुसार आग शर्ट सर्किट के कारण लगी थीं।

दमकल देरी से आने का आरोप 

उक्त कारखानों के मैनेजर मेहबूब आलम का कहना है कि कारखाने में कपड़े और कागज थे, इसलिए आग जल्दी फैल गयी। उक्त कारखाने में कुल मिलाकर 150 श्रमिक कार्यरत हैं। हालांकि जिस समय आग लगी सभी श्रमिक खाना खाने गये हुए थे नहीं तो कोई बड़ा हादसा हो सकता था। वहीं मैनेजर का आरोप है कि उन्होंने आग लगते ही दमकल को जानकारी दी थी लेकिन सूचना देने के करीब 40 मिनट बाद गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंचीं जिसके कारण आग फैल गयी। सूचना देने के बाद भी पहले वे लोग शिवपुर थाना पहुंचे और वहां से एक दमकल की गाड़ी को लेकर घटनास्थल पहुंचे थे। इसके बाद दमकल की गाड़ियां घटनास्थल पर पहुंचीं।

घटनास्थल पर पहुंचे मंत्री, एमएमआईसी व पार्षद

आग की सूचना मिलते ही घटनास्थल पर दमकल मंत्री शोभन चटर्जी, सहकारिता मंत्री अरूप राय, मेयर डॉ. रथीन चक्रवर्ती, एमएमआईसी श्यामल मित्रा, पार्षद शमीमा बानो समेत अन्य लोग पहुंचे। पार्षद का आरोप है कि कारखाने में आग बुझाने के लिए कोई बेहतर विकल्प नहीं था और साथ ही कारखाने में कपड़े धोने के लिए सफेद पेट्रोल का उपयोग किया जाता है। इसके कारण आग फैल गयी। दमकल मंत्री दमकल के डीजी को आग बुझाने के विभिन्न निर्देश दिये। इस मौके पर उन्होंने कहा कि दमकल की 24 गाड़ियां आग बुझाने में लगी थी और धीरे-धीरे आग को काबू कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि कारखाने में आग बुझाने के लिए कोई विकल्प था कि नहीं इसकी जांच की जायेगी।

बाकी कारखाने के श्रमिक है दहशत में

दो कारखाने में लगी भीषण आग से बाकी कारखाने के मजदूर दहशत में है। क्योंकि दोनों कारखाने के साथ 8 और कारखाने भी मौजूद हैं। सभी कारखाने लगभग कपड़े व होजियरी के ही थे। दमकल की गाड़ियां अगर और थोड़ी देरी में आती तो आगे सारे कारखाने को अपने चपेट में ले सकती थी। उक्त कारखाने में कार्यरत जय मजुमदार ने कहा कि वह जब खाने के लिए गया तभी यह घटना घटी। आग लगने के दौरान अगर कोई श्रमिक मौजूद होता तो ना जाने क्या होता। श्रमिक कृष्णा महतो कारखाने में लगी आग से दहशत में है।

Leave a Reply

अन्य समाचार

राहुल, ममता ने की मोदी से इस्तीफे की मांग

 विपक्षी ‘मोर्चे’ में नहीं आये वामदल, सपा, बसपा, जदयू  नयी दिल्ली : कांग्रेस के नेतृत्व में आठ विपक्षी दलों ने नोटबंदी को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का निजी फैसला करार देते हुए कहा है कि सरकार इसके लक्ष्य हासिल करने में नाकाम [Read more...]

हावड़ा के होजियरी कारखाने में लगी भीषण आग

  हावड़ा : गुरुवार की दोपहर करीब 12.30 बजे हावड़ा के होजियरी कारखाने में भीषण आग लग गयी। आग इतनी तेज फैली की देखते ही देखते 2 कारखानों को राख में तब्दील कर दी। इसमें कारखाने के करोड़ों के माल जलकर [Read more...]

मुख्य समाचार

उपर